एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर क्यों होते हैं ? Extramarital affair in India

एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर क्यों होते हैं, इसका जवाब हम में से शायद सभी लोग जानते हैं और समझते भी हैं. पिछले कुछ वर्षों से हमारे देश में एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर के मामले बढ़ते जा रहे हैं जिसकी वजह से घरों में अशांति और पति-पत्नी के बीच दूरियाँ बढ़ना स्वाभाविक है. पति-पत्नी का रिश्ता पूरी जिंदगी एक दूसरे के विश्वास पर टिका होता है, लेकिन तरक्की की भाग-दौड़ में लोग इतने व्यस्त होते जा रहे हैं कि लोगों का एक दूसरे के प्रति विश्वास ख़त्म सा होता जा रहा है. इस ख़त्म होते विश्वास से संदेह का उत्पन्न होना भी स्वाभाविक है, और इसी संदेह की वजह से एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर जैसे अनैतिक रिश्ते पनपते हैं.

एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर की एक घटना

एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर पर एक छोटी घटना याद आ रही है. जिग्नेश एक आधुनिक परिवार से था. उसकी शादी एक बेहद खूबसूरत लड़की मीसा से हुई थी. मीसा जितनी अधिक खूबसूरत थी, उतनी ही शर्मीली और सादगी पसंद लड़की थी. उसे पूजा-पाठ करने, व्रत रखने, सुबह-सुबह पति के पैर छूकर प्रणाम करना उसके संस्कार थे. वहीँ उसका पति जिग्नेश एक अल्हड़ स्वाभाव का और ओपन रिलेशनशिप या एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर जैसे रिश्तों में विश्वास रखने वाला इंसान था. दोनों के बीच ताल-मेल कहीं भी नहीं थी. अंत में तंग आकर जिग्नेश ने अपनी पत्नी से अलग होने का फैसला लिया और उसने कोर्ट में डाइवोर्स के लिए पेटिशन डाल दी. यह घटना मीसा बर्दाश्त नहीं कर पायी और उसने आत्म हत्या करने की कोशिश की.

यह भी पढ़ें : रिश्ते को मजबूत बनाने के लिए इन से बचें

दोनों के घरवाले उन्हें रिलेशनशिप कंसलटेंट के पास ले गए. जिग्नेश से बात करने पर पता लगा कि वह एक एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर में हैं. जिस लड़की से वह एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर में था वह ख़ूबसूरती और आकर्षण में मीसा के सामने कुछ भी नहीं थी,लेकिन जिग्नेश उसे बहुत चाहता था. वजह कुछ खास नहीं सिर्फ इतनी थी कि वह लड़की जिग्नेश की हर ख़ुशी को जिग्नेश की जरूरतों के अनुसार पूरी करती थी. वह सबकुछ करती थी जैसा जिग्नेश चाहता था. जिग्नेश के साथ नाईट क्लब जाना हो या जिग्नेश के मन के मुताबिक शारीरिक सम्बन्ध में उसका साथ देना, या फिर कुछ भी हो जो जिग्नेश चाहता था वो सबकुछ करती थी वह.

यह भी पढ़ें : Physical Relations in Husband Wife पति-पत्नी में सम्बन्ध

मीसा से जब पूछा गया कि क्या वह जिग्नेश के मुताबिक खुद को ढाल पायेगी, इस बात पर वह रोने लगी और जिग्नेश का साथ देने से इंकार करने लगी और इस तरह से एक नव दंपत्ति कुछ ही वर्षों में एक-दूसरे से अलग हो गए.

क्यों होता है एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर

शादी-शुदा दंपत्ति के बीच कम होता विश्वास, धीरे-धीरे उन्हें एक दूसरे से दूर कर रहा होता है. यह दूरियाँ इतनी बढ़ जाती है कि दोनों खुद को अलग-थलग महसूस करने लगते हैं और अपने अकेलेपन को दूर करने के लिए, नए साथी की तलाश करने लगते हैं और फिर यही से होती है एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर की शुरुआत. एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर की और भी कई वजह हैं जैसे  – लोगों की तेज़ गति से बदलती लाइफस्टाइल, आधुनिक सोच या फिर बढ़ती हुई आधुनिक आकांक्षाएं.

यह भी पढ़ें : Husband-wife में friendship होने चाहिए या नहीं

अश्लील फ़िल्में और एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर

एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर को बढ़ावा देने में अश्लील फिल्मों का भी एक अहम् योगदान हैं. अश्लील फिल्मों की बातें हमें आकर्षित करती हैं, और हम भी अपनी जिंदगी में फिल्मों वाली चीजें लागू करना चाहने लगते हैं, लेकिन पत्नी जब पति की इस तरह की चाहतों को पूरा करने से मना करती रहती है, ऐसी स्थिति में पति अपनी ख्वाहिशों को पूरा करने के लिए परेशान रहने लगता है. अपनी पत्नी से नाउम्मीद होकर एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर की तरफ बढ़ने लगता है, इस उम्मीद में कि उसे वो सब कुछ वहां मिलेगा जो उसे अपनी पत्नी से नहीं मिला.

यह भी पढ़ें : Husband wife के बीच ऐसी chemistry हो तो मज़ा आ जाए

एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर में पार्टनर का सहयोग

आज के आधुनिक जमाने में,कुछ मॉडर्न लोगों के बीच एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर एक फैशन भी बनता जा रहा है. अपनी बोरिंग लाइफ को रंगीन बनाने के लिए कुछ लोग एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर का सहारा लेने लगें हैं. एक ही पार्टनर के साथ लम्बे वक्त से शारीरिक सम्बन्ध बनाते-बनाते लोग बोर हो जाते हैं. इसी वजह से अपने पार्टनर के साथ ओर्गास्म के लिए उत्साह नहीं रह जाता और लोग ताज़गी के लिए एक नए पार्टनर की तलाश करते हैं. पति-पत्नी में एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर की शुरुआत कोई भी करे, फायदा दूसरे को भी होता है.

यह भी पढ़ें : Long distance relationship में husband की जुदाई को बनाये आसान

मान लीजिये एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर की शुरुआत पत्नी की तरफ से हुई और पति को पता लग गया, फिर भी वह अंजान बना रहता है क्योंकि उसे भी मौका मिल चुका होता है इस तरह के रिश्ते के लिए. एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर की चाहत कहीं न कहीं पति की भी थी लेकिन पत्नी की वजह से वह ऐसा नहीं कर पा रहा था. जब उसे पत्नी के अफेयर की जानकारी हुई, तो उसने इस बात को आपत्ति की तरह नहीं बल्कि एक अवसर की तरह लिया. इस तरह की मानसिकता से भी एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर जैसे रिश्तों को बढ़ावा दिया जा रहा है.

यह भी पढ़ें : पति पत्नी को शादी के 7 साल बाद पता लगा कि वे सगे भाई-बहन हैं.

पत्नी का साथ न मिलना और एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर

पत्नी का साथ न मिलना भी एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर की एक मुख्य वजह है. हर महिलाओं को यह समझना होगा कि पति भी एक इंसान है. हर इंसान को एक भावनात्मक सपोर्ट चाहिए. हर इंसान की जिंदगी में कई परेशानियां होती हैं, उसे जरूरत होती है एक साथी की, जो उसकी मदद करे. दुनिया में कोई भी ऐसा इंसान नहीं है जो परफेक्ट हो; ऐसे में अपने पति से परफेक्शन की उम्मीद रखना बेईमानी है. हर इंसान गलतियां कर सकता है और पति भी एक इंसान है. जब उसकी गलतियों पर पत्नी का सहयोग मिलने की जगह तानें और नफरत मिले, तो यकीन मानिये यह वजह काफी है किसी का दिल टूटने के लिए.

उस इंसान को साथ और स्नेह जब बाहरी महिला से मिलने लगता है तो वह उसकी तरफ बह जाता है और शुरुआत होती है एक  एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर की जहाँ से निकल पाना या निकाल पाना असंभव सा हो जाता है.

यह भी पढ़ें : Love you तुम मेरी पहली पसंद हो Pahla Pyar

आकर्षण और एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर

एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर की एक वजह आकर्षण भी है. किसी भी महिला को देखकर पुरुष का आकर्षित होना या किसी पुरुष को देखकर महिला का आकर्षित होना स्वाभाविक है. इस तरह के आकर्षण में कोई बुराई नहीं है, यह नेचुरल है. यह धारणा बिलकुल गलत है कि शादी शुदा महिला या पुरुष को किसी के प्रति आकर्षित नहीं होना चाहिए. आकर्षण होना और बात है, लेकिन आकर्षण, आकर्षण तक ही सीमित रहे तो बेहतर है. उसे हासिल करने की कोशिश करना बर्बादी का रास्ता है, ठीक वैसे ही जैसे बाज़ार में दिखने वाली हर खूबसूरत चीज जो आपको आकर्षित करती है,वो आपकी हो जाए यह संभव नहीं है. एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर भी ऐसे ही आकर्षण से शुरू होते हैं, जिसका अंत दुखदायी ही होता है.

यह भी पढ़ें : Successful marriage tips – सफल विवाह के टिप्स

एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर और कम उम्र में शादी

‘लड़का या लड़की किसी गलत राह पर न चल दें’ इस डर से घरवाले अपने बच्चों की शादी अक्सर 20-22 की उम्र में ही करा देते हैं. इस वजह से उनपर घर-गृहस्ती की जिम्मेदारियां वक्त से पहले आ जाती है और वे जिंदगी को या अपनी जवानी को सही तरीके से एन्जॉय नहीं कर पाते हैं. उनके मन में कहीं न कहीं यह अफ़सोस रहता है कि और लड़कों या लड़कियों की तरह अपनी युवावस्था को वे नहीं जी पाए, और अपने मन की इसी ख्वाहिश को पूरा करने के लिए वे एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर की ओर कदम बढाने लगते हैं.

यह भी पढ़ें : Partner के साथ अपने Secrets ऐसे share करें

शादी और एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर

परंपरा या समाज के दवाब में हुई शादी भी एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर की एक वजह हो सकती है. ऐसे कई शादी-शुदा जोड़े देखें गए हैं जिनमे लम्बे समय तक साथ रहने के बाद भी अच्छी ताल मेल की कमी रहती है. चाहते हुए भी दोनों एक-दूसरे को दिल से स्वीकार नहीं कर पाते हैं, क्योंकि दोनों की पसंद-नापसंद या आदतें या फिर रहन–सहन के तौर तरीके एक–दूसरे से मेल नहीं खाते हैं और ऐसे में कोई ऐसा मिल जाता है जिसका स्वाभाव या पसंद उनसे मेल खाते हों, फिर अपने आप ही उनका खिचाव उस तरफ बढ़ने लगता है जिसकी वजह बनता है एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर.

यह भी पढ़ें : Dirty Talks के Sexual and Relationship फायदे

बेमेल शादियां और एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर

उम्र में बेमेल शादियां भी एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर की एक बड़ी वजह है. अक्सर देखा गया हैं की लड़का-लड़की के उम्र में 5 साल या उससे भी अधिक का अंतर होता है, क्योंकि अधिकतर लड़कों की ख्वाहिश  होती है कि उसकी शादी कम उम्र की लड़की से हो, और यही उम्र का अंतर एक जनरेशन गैपिंग बन जाता है. जनरेशन गैपिंग की वजह से दोनों के सोच-विचार में भी अंतर होता हैं, यही अंतर उनकी  जिंदगी में नए-नए विवादों की वजह बनने लगते हैं. यही आपसी मतभेद और विवाद एक एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर की वजह बनने लगते हैं.

यह भी पढ़ें : Perfect Life Partner बनने के आसान tricks

सेक्सुअल सटिस्फैक्शन और एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर

सेक्सुअल सटिस्फैक्शन भी एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर की एक वजह है. सेक्स आज भी हमारे यहाँ एक टैबू बना हुआ है. खासकर महिलाओं में यह धारणा होती है कि सेक्स में ऐसा करना पाप है या वैसा करना अनैतिक है. उनका यही पाप-पुण्य का असमंजस एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर की एक बड़ी वजह बन जाता है. यौन शिक्षा का अभाव होने की वजह से वे अपने साथी को उचित ओर्गास्म नहीं दे पाती हैं जिस वजह से पुरुष बेचैन रहने लगता है, और उसकी यही बेचैनी उसे एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर के लिए प्रेरित करती है.

यह भी पढ़ें : Happy married life के लिए wife को ऐसे खुश रखें

पैरेंटिंग और एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर

पत्नी जब माँ बनती है, उसका पूरा ध्यान अपने बच्चे पर केंद्रित होने लगता है. धीरे-धीरे वह अपनी गृहस्ती और बच्चों में इस तरह व्यस्त हो जाती हैं कि उसका ध्यान अपने पति की तरफ ना के सामान रह जाता है. अक्सर महिलायें बच्चों और पति के बीच सामंजस्य नहीं बना पाती और पति खुद को अकेला महसूस करने लगता है और यही अकेलापन उसे दूसरे साथी की तलाश करने में प्रेरित करने लगता है और शुरुआत होती है एक एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर की.

यह भी पढ़ें : पत्नी देवी की सेवा beautiful wife का प्यार

ऑफिस में एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर

बेहतर लाइफ स्टाइल की चाहत ने लोगों को इतना व्यस्त कर दिया है कि लोगों को अपने काम के सिवा कुछ भी जरूरी नहीं लगता. लगभग हर कोई अपनी तरक्की के पीछे भाग रहा है. लोगों ने खुद को इतना व्यस्त कर लिया है कि घर-समाज की छोड़िये, पति-पत्नी को एक दूसरे के लिए भी वक्त नहीं मिलता. लोगों का अधिक वक्त उनके ऑफिस में या उनके कार्यस्थल में ही गुजरता है. ऐसे में अपने आस-पास रहने वाले लोगों से आकर्षित होना आम बात हो जाती हैं. वैसे भी एक रीसर्च के अनुसार ऑफिसों में एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर की संभावना अधिक रहती है.

यह भी पढ़ें : शादी से पहले शारीरिक संबंध की बात जब पत्नी ने पति से बताया

कार्यस्थल पर एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर का मुख्य कारण

ऑफिस में या अन्य कार्यस्थल पर लोगों को अपने काम का तनाव बहुत अधिक होता है. ऐसे में कोई ऐसा भी होता है जो आपसे सहानुभूति रखता है और आपके काम को निपटाने में आपकी मदद करता है, या ऑफिस की गन्दी पॉलिटिक्स में भी आपका सपोर्ट करता है. इस हालत में ना चाहते हुए भी वह इंसान आपके दिल के करीब होने लगता है. आपको हर वक्त उसकी जरूरत महसूस होने लगती है. यहाँ तक कि आपकी व्यक्तिगत सामाजिक या घरेलू समस्यायों में भी आप उस इंसान पर निर्भर होने लगते हैं. अपनी समस्यायों को खुल कर आप उसके सामने रखने लगते हैं. वह भी आपकी परेशानियों को पूरी ईमानदारी से सुलझाने की कोशिश में लग जाता है. धीरे-धीरे यह करीबी एक भावनात्मक सम्बन्ध में बदल जाती है. वह इंसान, दुनियां में सबसे बेहतर लगने लगता है. वह आपके लिए इतना महत्वपूर्ण हो जाता है कि उसके बगैर जिंदगी जीने की कल्पना मात्र से ही आप डर जाते हैं, और यह एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर इतना बड़ा रूप ले लेता है कि इससे निकलना नामुमकिन हो जाता है.

यह भी पढ़ें : THREESOME RELATIONSHIP in Hindi

एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर की वजह पैसा और शौक

एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर की वजह पैसा और शौक भी है. तेज़ गति से तरक्की करता हुआ इंसान वो हर चीज हासिल कर लेना चाहता है जो उसे पसंद है. पैसे कमाने की भूख में आज का इंसान मशीन बनता जा रहा है, और मशीनों में दिल नहीं होते . जब जिंदगी में दिल और एहसास जैसी भावनाओं का कोई महत्व नहीं रह जाता तो रह जाती है सिर्फ अपनी जरूरतें और शौक. अपने शौक को पूरा करने में इंसान कोई कसर नहीं छोड़ता. अगर पैसे हैं तो अपनी जरूरतें और शौक पूरी करते हैं और पैसे नहीं हैं तो कुछ लोग पैसों के लिए एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर का माध्यम अपनाते हैं, लेकिन हमें इस बात का ध्यान रखना होगा कि एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर जैसे रिश्ते अंततः दुखदायी ही होते हैं.

Extramarital affair पर Quora में discussion.

Advertisements

Leave a Reply