खूबसूरत लड़की की खूबसूरती पर शायरी Heart Touching Love Story in Hindi

यह sad love story है एक खूबसूरत लड़की से दिल्लगी की… खूबसूरत लड़की की चाहत में मदहोश एक प्यार की कहानी है… अनछुई कली सी एक खूबसूरत लड़की की बिखेरती हुई मदमस्त खुशबू की कहानी है… एक खूबसूरत लड़की… बेहद खूबसूरत लड़की… शायद दुनिया की सबसे खूबसूरत लड़की की खूबसूरती में गिरफ्तार एक मासूम प्रेम की sad love story है. यह sad love story शायद दुनिया की सबसे खूबसूरत लड़की की खूबसूरत सीरत की कहानी है. यह sad love story एक खूबसूरत लड़की के खूबसूरत संसार की कहानी है…

मैं सेकंड ईयर का एग्ज़ाम देकर अपने कज़न के यहाँ दिल्ली आया था. भैया की एक लेडीज़ रेडीमेड गारमेंट्स की शॉप थी. मुझे आए हुए करीब तीन दिन हो गए थे. अपना अधिक समय मैं भैया के साथ ही उनकी शॉप में बिताया करता था. एक दिन भैया शॉप में मुझे बैठा कर लंच के लिए चले गए. इतने में एक खूबसूरत लड़की शॉप में आयी. तीन दिनों पहले भी आयी थी. सच कहूँ तो उसे देखते ही मैं उससे आकर्षित हो गया था. अपनी चोर निगाहों से उसे बार-बार निहारे जा रहा था. उस खूबसूरत लड़की के चेहरे से एक पल भी नज़रें हटाने की इच्छा नहीं हो रही थी. लेकिन मर्यादा को ध्यान में रखते हुए उसे लगातार देखते रहना अनुचित था. फिर भी जितनी देर वह शॉप में रुकी, मैं उसे देखने के ही बहाने तलाशता रहा. ऐसा पहली बार हुआ था कि किसी खूबसूरत लड़की को देखते ही उस पर या उसकी खूबसूरती पर दिल फ़िदा हो जाए. You are reading a sad love story in Hindi.

भैया के जाने के बाद जब वह खूबसूरत लड़की एक बार फिर आयी तो उसे देखते ही मेरे दिल की धड़कने तेज़ होने लगीं, लेकिन मैंने वक्त रहते खुद को संभाला. शॉप में आते ही उसने कुछ पूछा था, लेकिन मेरे सुध-बुध उसे देखते ही उसकी ख़ूबसूरती में खो गए थे. उसने क्या पूछा या कहा, मैं नहीं सुन सका या समझ सका. जब अपने इमोशंस और तेज़ धड़कते दिल को कण्ट्रोल किया तो ध्यान आया कि आते ही वह कुछ बोली थी. उसने दुबारा पूछा “शॉप वाले भैया कहाँ गए ?” शायद इसके पहले भी उसने यही पूछा होगा. मैंने बता दिया कि भैया लंच पर गए हैं, आधे घंटे में आएंगे. लड़की ठीक है कहके जाने के लिए पलट गयी. उस वक्त मेरा जी चाहा कि काश कुछ देर और रुक जाती ! वह शॉप से उतर गयी और उतरते ही मुड़कर मेरी तरफ देखने लगी और फिर से शॉप में लौट कर आयी, बोली “आप से कुछ पूछना था”.

“जी बिल्कुल”

“आप शॉप वाले भैया के घर से हैं?”

“जी, भैया मेरे कज़न  है”

“उस दिन आप बार बार मुझे क्यों घूरे जा रहे थे ?” चेहरे पर सख्ती के भाव थे.

मैं डर गया. समझ नहीं आ रही थी कि क्या जवाब दूँ. क्योंकि मेरी चोरी पकड़ी गयी थी. उस दिन मैं उसे बार-बार देख रहा था. एक अजीब उधेरबुन में फंसा था कि क्या जवाब दूँ, इतने में उसने दूसरा सवाल रॉकेट की रफ़्तार से दाग दिया “आपको इतना भी पता नहीं कि किसी महिला को बार-बार ऐसे नहीं देखना चाहिए ?”

डर के मारे मेरी हलक सूख रही थी. समझ नहीं पा रहा था कि सिचुएशन को कैसे हैंडल करें. अचानक दिमाग ने सिग्नल दिया कि बेटा जो सच है कह दे. हो सकता है माफ़ी मिल जाए और बात भैया तक पहुँचने से पहले ही रफा– दफा हो जाए. मैंने शालीनता से जवाब दिया “मेरा देखना आपको बुरा लगा इसका मुझे अफ़सोस है. हो सके तो माफ़ कर दीजिये, लेकिन आपको देखने के पीछे मेरा कोई गलत इरादा नहीं था. क्यों देख रहा था यह बताऊंगा तो हो सकता है आपको और भी बुरा लगे.”

किसी खूबसूरत लड़की से बात करने के लिए पढ़ें : लड़कियों से बात करने के तरीके

मेरा सच का सहारा लेना काम कर गया. उसके चेहरे के भाव बता रहे थे कि मिजाज में बदलाव आ रहे हैं. चेहरे से एक छोटी मुस्कान झाँकने लगी थी. “इतनी घटिया सोच रखते हैं आप कि उसे जानकर मुझे और भी बुरा लगेगा ?”

“जी ऐसी बात नहीं है. आगे से मैं इस बात का ध्यान रखूँगा कि मैं किसी भी खूबसूरत लड़की की ख़ूबसूरती को ना देखूं, लड़की चाहे कितनी ही खूबसूरत क्यों न हो, मैं कभी नहीं देखूंगा उसकी तरफ. चोरी-चोरी भी नहीं देखूंगा. भले ही आपसे भी अधिक खूबसूरत लड़की क्यों न हो, तब भी नहीं देखूंगा. विश्वास कीजिये अब से मैं किसी कि भी ख़ूबसूरती को नहीं निहारूँगा”.

किसी खूबसूरत लड़की से दोस्ती करने के लिए पढ़ें : दोस्ती क्या है ? क्या लड़का और लड़की सिर्फ दोस्त हो सकते हैं ?

sad love story in hindi

मेरा इतना कहने से गेस कीजिये क्या हुआ होगा ! मैंने तो शिष्टता दिखाते हुए उसे सच कह दी थीं. बहुत बड़ा पन्गा लेना भी कह सकते हैं इसको. उसके सवालों का उलूल-जुलूल जवाब देने से बेहतर था कि मैं उसे साफ़ शब्दों में सच बता दूँ, क्योंकि मैं उसे किसी गलत इरादे से नहीं देख रहा था. जब इरादा गलत नहीं है और आपकी चोरी पकड़ी गयी है तो बेहतर यही है कि सच बता दिया जाए. मैंने भी सहजता के साथ सच का सहारा लिया और बड़ी सफाई से माफ़ी मांगने के लहज़े में ही उसे एहसास करा दिया कि वह मुझे एक बेहद खूबसूरत लड़की लगती है. You are reading a sad love story in Hindi.

जानते हैं उस खूबसूरत लड़की का क्या रिएक्शन था ? वह हसने लगी और बोली “कमाल हो यार ! आपने तो नॉन स्टॉप सेंचुरी ही ठोंक डाली. डायरेक्ट आपने कह दिया कि ख़ूबसूरती के वजह से आप देख रहे थे. सही है गुरु… कोई लाग्-लपेट नहीं… माने सीधा ही…” उसके लहज़े में अब नम्रता थी. उसके मिजाज में बदलाव आता देख, मैंने कहा “लेकिन मैं आपको लगातार घूरे नहीं जा रहा था. इच्छा तो हो रही थी कि…” मैं रुका. You are reading a sad love story in Hindi.

“अरे रुको मत ठोंको-ठोंको”

“आप हैं ही इतनी खूबसूरत कि कोई भी इस ख़ूबसूरती को निहारे बग़ैर…”  मैंने दबी आवाज़ में कहा.

“बल्लेबाज, बाउंड्री मारो सीधा… इक्की दुक्की नै चाहिए…”

“आपकी ख़ूबसूरती मुझे इतनी पसंद आ रही थी कि जी कर रहा था कि आपको देखता ही रहूँ. शिष्टाचार को ध्यान में रखकर ही मैं आपको चोर निगाहों से किसी बहाने देख रहा था. मुझे क्या पता था कि मेरी चोरी पकड़ी जाएगी” लड़की ठहाके मार के हँसने लगी और चली गयी.

किसी खूबसूरत लड़की को गर्लफ्रेंड बनाने के लिए पढ़ें : गर्लफ्रेंड बनाने के तरीके

अगले दिन फिर उसी वक्त वह खूबसूरत लड़की आयी जब भैया लंच पे गए हुए थे. उसे देखते ही मेरा दिल फुदकने लगा. पिछली मुलाक़ात में जो हुआ, इस वजह से मुझे भी घबराहट नहीं हुई. आते ही उसने एक खूबसूरत सी स्माइल दी और पूछा “और मिस्टर बैट्समैन… भैया लंच पे ?”

“हाँ”

“और सुनाओ कैसे हो ?”

मेरे लिए यह चमत्कार जैसा ही था. यह चमत्कार ही था क्योंकि जिसकी महज़ झलक देखने के लिए मैं बेताब रहने लगा था, वह खुद ही मेरे पास आकर मेरा हालचाल पूछ रही थी. “जी ठीक हूँ, आप कैसी हैं ?” अपनी उत्तेजनाओं को छुपाते हुए एक हलकी स्माइल देकर पूछा.

“आपके भैया कब तक आएंगे ?”

“यही कोई दस पंद्रह मिनट्स में”

“आज वेट ही कर लेती हूँ… मेरा फ्लैट थर्ड फ्लोर पे है. एक बार चढ़ने के बाद उतरने की हिम्मत नहीं होती. इसी वक्त मैं डांस क्लास से आती हूँ और आपके भैया इसी वक्त… क्या मैं वेट कर लूँ ?”

“जी बिल्कुल, बैठिये”

“आप मुझे घूरोगे तो नहीं !” शरारती लहज़ा था.

“आप मुझे शर्मिंदा कर रही हैं” नज़रें झुकाते हुए जवाब दिया.

हँसने लगी, मैं झेंप सा गया.

“आप कहाँ रहते हो ?”

“जी मैं बनारस रहता हूँ.”

“दिल्ली घूमने आए ?”

“…” इतने में भैया आ गए. “ये लीजिये आ गए भैया”.

वह अपने बैग से एक जींस पेंट निकाल कर भैया को उसमे कुछ दिखाने लगी. भैया मुझे घर जाने को कहने लगे क्योंकि मुझे भाभी को लेकर डॉक्टर के पास जाना था. उस खूबसूरत लड़की के शॉप में रहते, वहाँ से जाने की इच्छा बिल्कुल नहीं हो रही थी पर जाना पड़ा, क्योंकि डॉक्टर के यहाँ जाने में देर हो रही थी. You are reading a sad love story in Hindi.

अगले तीन दिनों तक वह नहीं दिखी. शॉप के सामने वाली रोड से गुज़रते हुए लोगों पर मेरी नज़रें टिकी थी, इस उम्मीद में कि काश वह एक बार दिख जाए… काश उस खूबसूरत लड़की की ख़ूबसूरती के दर्शन हो जाए… लंच के वक्त डांस क्लास से उसके लौटने का वक्त था. खुद ही बताया था उसने. मैं शॉप से बाहर खड़ा होकर उसका इंतज़ार करने लगा. चौथे दिन वह दिख गयी. मुझे देखकर चलते-चलते ही उसने स्माइल दी और आगे बढ़ गयी. मैं पीछे से उसे निश्चिन्त होकर देखता रहा और वह कुछ ही पलों में आँखों से ओझल हो गयी. You are reading a sad love story in Hindi.

sad love story in hindi खूबसूरत लड़की

मैं खुश था क्योंकि उसकी ख़ूबसूरती को देखने के लिए मेरा मन पिछले तीन दिनों से बेचैन था. आज भले ही उसकी एक झलक मिली थी, लेकिन यह एक झलक, एक बीमार के लिए पैरासिटामोल जैसा ही था. मैं खुश होकर काउंटर पर बैठ गया और उस खूबसूरत लड़की की ख़ूबसूरती को शब्दों से कागज़ पर सजाने लगा. कुछ देर बाद किसी के आने की आहट हुई, सिर उठाया तो मेरी खुशियों का ठिकाना न था.  खूबसूरत लड़की शॉप में मेरे सामने एक सुन्दर मूरत की तरह खड़ी थी. मुझे लगा जैसे मेरी एक बहुत बड़ी चोरी पकड़ी गयी हो. झट से उस कागज को काउंटर से उठाकर जेब में डाल लिया.

“क्या है वह ?”

“कुछ नहीं… बस ऐसे ही…” मेरी घबराहट से साफ़ पता लग रहा था कि कुछ गड़बड़ है. वह मेरी शर्ट की जेब की तरफ गौर से देखती हुई बोली “मुझे देखते ही आपने कागज़ जेब में डाल लिया, और आपके सिर पे पसीने भी चमक रहे हैं. इसका मतलब है उस कागज़ में मुझसे सम्बंधित ही कुछ है. दिखाओ ज़रा”

मैंने टालने की कोशिश की तो उसने भैया से शिकायत करने की धमकी दे डाली. मैं मज़बूर था, उस कागज को जेब से निकाल कर अपने काँपते हुए हाथ से उसे थमा दिया. वह ध्यान से उसे पढ़ने लगी. पढ़ने के बाद उसने कागज को फोल्ड करके अपने पर्स में डाल लिया. मुझे लगा अब कोई बड़ा बवाल होने वाला है. मेरा हलक सूख गया था.

किसी खूबसूरत लड़की को लव लेटर लिखने के लिए पढ़ें : Love letter कैसे लिखें

“माय गॉड ! कितना अच्छा लिखते हो आप ! तो मिस्टर बैट्समैन एक अच्छे शायर भी हैं ! लगता है श्रृंगाररस और प्रेमरस पर लिखने में आपकी अच्छी रूचि है. क्या बखूबी तरीके से एक खूबसूरत लड़की की खूबसरती पर शायरी लिखी है आपने… किसी खूबसूरत लड़की की सुंदरता को बड़ी खूबसूरती से शब्दों में सजाया है… ग़ज़ब… एक रिक्वेस्ट करूँ ?” मुझे लगा जैसे मई महीने की झुलसाने वाली धूप में अचानक से रिमझिम बारिश होने लगी हो.

“जी…”

“ऐसी ही प्रेमरस वाली खूबसूरत लड़की की खूबसूरती पर शायरी मुझे और भी देंगे प्लीज़…!”  एक खूबसूरत लड़की की खूबसूरती पर शायरी लिखने की गुज़ारिश खुद सुंदरता कर रही थी. दुनिया की सबसे खूबसूरत लड़की पर शायरी लिखने का फरमान खुद हुस्न की मल्लिका सुना रही थी. You are reading a sad love story in Hindi.

heart touching love story in hindi खूबसूरत लड़की

अपनी नाज़ुक खूबसूरत उँगलियों से चुटकी बजाते हुए मानो उसने मुझे नींद से जगाया हो.

“शायर साहब कहाँ खो गए ?”

“नहीं, कुछ नहीं…”

“मुझे लगता है श्रृंगार रस पर आपकी रचनाएँ एक बेहद खूबसूरत लड़की की सुंदरता से भी अधिक सुन्दर होंगी. ऐसी ही कुछ शायरी देंगे प्लीज !”

“जी, खूबसूरत लड़की की खूबसूरती पर शायरी लिखने के लिए खूबसूरत लड़की का दिल पे जादू चलना ज़रूरी है… जब भी आपको देखता हूँ खूबसूरती का जादू मुझमें ऐसे ही हावी हो जाता है”

“ओये होये क्या बात ! क्या बात ! आपने तो आज दिल गार्डन गार्डन कर दिया… कहीं मैं खुद पे ही फ़िदा न हो जाऊँ…” खिलखिला कर हँसने लगी.

उसका हर शब्द मोहित कर देने वाला संगीत बनकर मेरे कानों से दिल में उतर रहा था. जी चाह रहा था कि वह मेरे सामने ऐसी ही बैठी रहे… बस यूँ ही इसे देखता रहूँ…

“इंटरेस्टिंग मैन ! ओके, देर हो रही हूँ… घर पे प्रैक्टिस करनी है… चलो बाय !”

“बाय…”

अचानक पलटी और हाथ मिलाने के लिए अपना हाथ बढ़ाती हुई बोली “मैं हूँ महक…” यह आलम तो बिल्कुल ही अविश्वसनीय था.

मैंने भी अपना हाथ उसके हाथ में थमा दिया “रवि…”

“गुड नेम ! ठीक है रवि कल आऊँगी. लिख के रखना… पक्का… भूलना मत…. चलो बाय…”

“बाय…”

सच कह रहा हूँ, जितने भी देवी-देवता उस वक्त मुझे याद आएँ, सभी को प्रणाम किया और उनकी इस कृपा दृष्टि के लिए… दिल से उन्हें धन्यवाद देने लगा. मेरे लिए यह सब किसी चमत्कार से कम नहीं था. You are reading a sad love story in Hindi.

खूबसूरत लड़की heart touching love story in hindi

A sad love story in Hindi.

रात भर वह खूबसूरत लड़की मेरे दिलों दिमाग पर खुशबू बनके छायी रही और उस खूबसूरत लड़की की खूबसूरती पर शायरी कागजों पर निखरती चली गयी. अगले दिन अपने निश्चित समय पर वह आ गयी. खूबसूरत लड़की के चेहरे पर मुस्कान की सजावट… ग़ज़ब ढा रही थी. हैंड शेक के लिए अपना हाथ बढ़ाती हुई बोली “कि हालचाल रवि बाबू !”

उससे हाथ मिलाता हुआ धड़कते दिल से उसका अभिवादन किया और जेब से शायरी के पन्ने निकाल कर उसे सौंप दिया. पन्नों को अपने पर्स में रखते हुए बोली “घर जाकर आराम से पढूँगी… अभी पेट में मोटे-मोटे चूहे जम्प मार रहे हैं… जब तक पेट में कुछ डालूँगी नहीं ये चूहे इन शायरी को चैन से पढ़ने भी नहीं देंगे…” हँसते हुए बोली “चलो फिर कल मिलती हूँ. बाय…”

मैंने भी मुस्कुराते हुए अपना हाथ उठाकर उसे बाय किया, और महक के साथ झोंके से आयी एक बहार, पल भर में फिर से गायब हो गयी… आहें भरता हुआ चेयर पर निढाल हो कर बैठ गया और मेरी बंद आँखों को उस खूबसूरत लड़की का सुन्दर चेहरा अलग-अलग भावों में दिखने लगा. दिलो दिमाग में उसके कहे एक-एक शब्द शहद घोल रहे थे. दिल खुशियों के मारे ज़ोर-ज़ोर से उछाल मारे जा रहा था. मेरे ख्यालों के रंग-बिरंगे आसमान में महक ही महक थी…

जिस खूबसूरत लड़की की एक झलक पाने के लिए, नज़रें बेताब रहा करती थी… जिस खूबसूरत लड़की को चोरी-चोरी निहारने में भी घबराहट होने लगती थी…  अब वह मेरी अच्छी दोस्त बन चुकी थी… शायद दोस्त ही… अचानक किसी ने झकझोड़ा. आँखें खुली तो सामने भैया खड़े थे. “रात भर सोये नहीं हो इसलिए नींद आ रही है, जाओ कुछ खा लो और आराम करो”.

अपनी खाली हथेलियों से आँखों को मींचता हुआ मैं घर पहुँचा. You are reading a sad love story in Hindi.

अगर आप भी किसी खूबसूरत लड़की के प्यार में हैं तो पढ़ें : परमात्मा के जैसा है सच्चा प्यार

sad love story in hindi खूबसूरत लड़की

A sad love story in Hindi.

रात के सन्नाटे में फिर वही दीवानगी… खूबसूरत लड़की का जादूई एहसास… सोने के लिए आँखें बंद करता तो उसका हँसता मुस्कुराता चेहरा गुदगुदाने लगता. रात भर उसके विषय में ही सोचता रहा, और उस खूबसूरत लड़की की सुंदरता को कलम से शब्दों से सजाता रहा. सुबह हो गयी तो भैया-भाभी की डाँट से बचने के लिए, उनके जागने से पहले ही सो गया. नींद खुली तो देखा दिन के बारह बज रहे थे. भैया के लंच का वक्त होने वाला था. झटपट तैयार होकर शॉप की तरफ भागा. मेरे पहुँचने पर भैया घर चले गए और मैं शॉप में लगे आईने में अपने बिखरे बालों को और अपने कपड़ों को ठीक करने लगा क्योंकि महक के आने का वक्त हो रहा था. कभी आइना देखता तो कभी बेसब्री से बाहर रोड की तरफ देखता. घड़ी की सूई भी अपनी चाल में भाग रही थी. उसके आने का वक्त भी निकलता जा रहा था.

कुछ ही देर बाद भैया लंच करके लौट आये. मैं समझ गया था कि अब वह नहीं आएगी. मन में तरह-तरह के विचार आने लगे – हो सकता है आज वह डांस क्लास गयी ही न हो… हो सकता है डांस क्लास में आज एक्स्ट्रा एक्टिविटी हो इस वजह से अभी तक नहीं लौटी… लेकिन अब आएगी भी तो शायद शॉप में ना आये,  क्योंकि भैया आ चुके हैं… अपने ख्यालों में डूबा हुआ उसके नहीं आने की वजहों में व्यस्त था, इतने में दो कस्टमर्स आ गए और दोनों को कपड़े दिखाने में मैं और भैया व्यस्त हो गए. You are reading a sad love story in Hindi.

अगले दिन वही लंच का वक्त… वही उत्सुकताएं … वही आईने में बार-बार खुद को देखना और रोड से गुज़रते लोगों के बीच उस खूबसूरत लड़की को ढूँढना… उस खूबसूरत लड़की के इंतज़ार में रहना… लेकिन उस दिन भी नहीं आयी. मेरी बेचैनी बढ़ने लगी थी. उसका अता पता भी नहीं जानता था… कहाँ जाता उसे ढूँढने ! मन मार कर दिल को तसल्ली देते हुए मुश्किल से समझाया. अगले दिन सुबह उठते ही नहा धोकर पूजा पर बैठ गया और देवी-देवताओं से उस खूबसूरत लड़की की झलक पाने के लिए मिन्नतें करने लगा. You are reading a sad love story in Hindi.

अगर आप भी किसी खूबसूरत लड़की के प्यार में हैं तो पढ़ें : प्यार क्या होता है ? Pyar Kaise Kare ?

sad love story in hindi

You are reading a sad love story in Hindi.

शॉप जाने का वक्त हुआ और भैया के साथ शॉप के लिए घर से निकलने लगा, इतने में भाभी रोकने लगीं. ज़िद करने लगीं कि कुछ वक्त उनके साथ भी गुज़ारूं. सोचा भैया के लंच के वक्त तक तो रुक ही सकता हूँ. मेरे चेहरे की बेचैनी को भाभी शायद भांप गयी थी. भाभी के जासूसी अंदाज में तहक़ीक़ात करने पर मैंने उनसे उस खूबसूरत लड़की महक के बारे में सबकुछ बता दिया. वह एक बेहद खूबसूरत लड़की है और मेरी दोस्त बन चुकी है. मेरी जिज्ञासाओं को भाँपते हुए भाभी ने आश्वासन दिया कि उससे मिलकर वह खुद बात करेंगी. उन्होंने कहा कि अब की बार मुलाक़ात हो तो मैं उसे भाभी से मिलवाने घर पर लेता आऊँ. You are reading a sad love story in Hindi.

उसके विषय में देवर-भाभी की बातें चलती रहीं, इतने में लंच का वक्त हो गया. मैं शॉप के लिए निकलने लगा तभी भाभी ने पीछे से आवाज़ लगाई और एक मनमोहक खुशबू वाला परफ्यूम मेरे कपड़ों पर स्प्रे करती हुई बोलीं “ख़ास लोगों से मिलने के लिए, खास अंदाज़ अपनाइये श्रीमान शायर साहब…” मैं शर्माता हुआ घर से निकल लिया.

शॉप पहुँचने पर भैया घर चले गए. फिर वही आइना… वही घड़ी का भागता हुआ काँटा…. और रोड से गुज़रते हुए लोग… और लोगों के चेहरों में महक को तलाशती मेरी बेचैन नज़रें… सुबह की पूजा रंग लायी और मेरे देवी-देवताओं ने मेरे दिल की तड़प शांत करने के लिए. उसे भेज ही दिया… वह शॉप में आयी. जी चाह रहा था अपने बाहों से उसे बाँध लूँ… उस वक्त की खुशियों को मैं शब्दों में ज़ाहिर नहीं कर सकता… शायद उस आनंद की अनुभूति का इज़हार करने के लिए मेरे पास शब्द ही नहीं हैं…

“और सुनाओ जी शायर साहब… कि हाल चाल ?”

“कहीं चली गयीं थीं आप !”

“डांस क्लास में तीन दिनों की छुट्टी थी, सोचा घर की साफ़-सफाई हो जाए. वैसे भी दीवाली आने वाली है. इसलिए घर की सफेदी करवाने लगी. आज तो मेरे लिए आपके पास कई कलेक्शंस होंगे ! तीन दिनों की पूरी खुराक चाहिए मुझे ! अरे क्या गज़ब लिखते हो गुरु… आपकी शायरी में एक गजब की कशिश है ! इन्हें कोई ख़डूस बंदा भी एक बार पढ़ ले तो पक्की बात वह रोमांटिक हुए बिना नहीं रह पायेगा”

अपने खूबसूरत मुखड़े को मेरे करीब लाकर धीरे से फुसफुसाई “कहाँ से लाते हो ऐसी ऐसी इश्कबाज़ो वाली  फीलिंग्स… मदहोश कर देने वाले शब्दों की वो नज़ाकत… हए…हए… हय ……”

“ये मेरा कमाल नहीं है… किसी खूबसूरत लड़की के जादू का असर है यह….”

“ओये क्या बात रांझें… कौन है कुड़ी… ? हमें भी मिलवाओ कभी उस खूबसूरत लड़की से !”

“उस खूबसूरत लड़की से आप मिलेंगी तो शायद हमारी दोस्ती…”

“अजी उस खूबसूरत लड़की का ही तो कमाल है हमारी दोस्ती… काश वह खूबसूरत लड़की मैं ही होती… सचमुच वह एक खूबसूरत लड़की ही नहीं… पूरी की पूरी ग़ज़ल होगी… उस ग़ज़ल की खूबसूरती को निखारने वाले इस कलाकार पे तो असि वारि जावां… काश वो खूबसूरत लड़की मैं होती… तो यह कलाकार भी मेरा होता…”

मैं एकटक उसे देखे जा रहा था. उसकी बातों को सुनकर दिल मचलने लगा, जी चाह रहा था कि कह डालूं कि वह खूबसूरत लड़की कोई और नहीं सिर्फ तुम हो… जब से तुम्हे देखा है… तुम्हारी खूबसूरती ने मेरे मन मष्तिष्क को मूर्छित कर रखा है… कैसे तुम्हे देखने के लिए मैं हर पल तड़पता तुम्हारा इंतज़ार करता रहता हूँ…

“ओये शाम को फ्री हो तो आओ मेरे घर पे चाय शाय पिएंगे… गप्पे मारेंगे… क्यों ?”

मैं कुछ कह पाता इतने में अपने पर्स से कलम निकाल कर काउंटर पर रखें कागज़ में कुछ लिखने लगी.”शायर साहब, ये मेरा पता है. अगर आप के साथ शाम की चाय हो जाए तो मज़ा आ जाए… थोड़ी सी और मेहरबानी  करेंगे तो आपके साथ डिनर करने का भी सौभाग्य इस नाचीज़ को नसीब हो जाएगा… तो फिर मिलें आज शाम को !”

“जी…”

You are reading a sad love story in Hindi.

sad love story in hindi

You are reading a sad love story in Hindi.

वह चली गयी. मेरी पलकें मानों झपकना ही भूल गई हों… मुंह खुला रह गया… भगवान के मंदिर की तरफ देखता हुआ सोचने लगा कि परमात्मा अपने भक्तों की बंदगी स्वीकार करता है, यह तो सुना था… परमात्मा सच्चे दिल से मांगी हुई मुराद पूरी करता है, यह भी सुना था… लेकिन इतनी जल्दी और एक बार में ही मुराद पूरी कर देगा, इसकी उम्मीद नहीं थी. You are reading a sad love story in Hindi.

अब मेरी निगाहें घड़ी की सुई पर टंगी थी. भाभी से मिल कर उनसे इस बात को बताने के लिए मन व्याकुल हो रहा था. भैया पता नहीं कब आएँगे, क्योंकि उनके आने का वक्त भी हो चला था. यहाँ भी किस्मत ने साथ दिया और भैया कुछ ही पलों बाद आ गए. मैं उछलता, भागता हुआ भाभी के पास पहुँचा और जाते ही उनसे लिपट गया. मुश्किल से वह मुझसे आज़ाद हो सकी थी. उनके हाथों को पकड़ कर बच्चों की तरह नाचने लगा. मेरी बहकी-बहकी हरकतों को भाभी समझ भी रही थी, पर असल में बात क्या है, यह जानने के लिए जिद करने लगीं. मैं भी भाव खाने लगा. बात इतनी खुशी की थी कि इतनी आसानी से मैं भी कहाँ बताने वाला था. मैंने बताया कि महक मिलने आयी थी, पर उसने क्या कहा जिससे मैं खुश हूँ ये बात नहीं बताई. भाभी उस बात को जानने की जिद करती रहीं… और खुद ही गेस करती रहीं “उसने आई लव यू बोल दिया ?”

“न, ये बात नहीं है.”

“फिर उसने अपने घरवालों से मिलवाने की बात कही होगी…”

“ये भी नहीं !”

“अच्छा रुको… फिर उसने ज़रूर अपने साथ फिल्म देखने के लिए ऑफर किया होगा, है न !”

“नहीं भाभी…. ये भी नहीं….!”

भाभी न जाने क्या-क्या गेस करती रही लेकिन असली बात तक नहीं पहुँच सकीं. थक हार के उन्होंने अब सीधे ब्रम्हास्त्र चला दिया और दे डाली भैया की कसम. मजबूर होकर बताना पड़ा. देवर भाभी की बातचीत चलती रही और समय का पता नहीं चला और शाम हो गयी. अपने हाथों से भाभी मुझे सजा-संवारकर विदा कर रही थी. मुझे ऐसा लग रहा था कि मैं महक से शादी करने के लिए ही घर से निकल रहा हूँ. धड़कने तेज़ हो चली थी. मैं निकलने लगा तो भाभी बोली “महक की फोटो लाना मत भूलना… और हाँ, हो सके तो दो-तीन फोटो मांग लेना, कहना भाभी ने मंगवायी है. भूलना मत…”

“अरे हाँ भाभी, अब जाने भी दो, बेचारी इंतज़ार कर रही होगी !”

“अच्छा जी अभी से ही वो बेचारी हो गयी…” भाभी खिलखिलाती हुई हँसने लगीं. मैं शर्म से झेंपता हुआ वहाँ से निकल लिया.

महक के घर पहुँचा, वह मेरा हाँथ पकड़ कर अपने बेडरूम में ले गयी. बेडरूम की दीवारों पर सजे इंटीरियर्स को दिखाती हुई बोली “ढूंढो यहाँ क्या ख़ास है… “

मैं दीवारों पर टंगी एक-से-बढ़कर-एक खूबसूरत पेंटिंग्स को गौर से देखने लगा. मुझे सब खास ही लग रहे थे. क्रीम कलर की दीवारों के बीच, फर्श पर बिछा गहरे गुलाबी रंग का कालीन बहुत खूबसूरत लग रहा था.

मेरी नज़रें उसके बेड के बगल में रखे एक रैक पर गयी जिसमें शीशे में फ्रेमिंग की हुई कुछ फोटोज़ रखी थी और फोटो के बगल में तीन और फ्रेम थे जिनमें कलम से लिखे हुए कागज़ बंद थी. नज़दीक जाकर देखा तो वे वहीं कागज़ थे जिन पर मेरी शायरी लिखी हुई थी.

आश्चर्य से महक की ओर देखा तो वह मुस्कुरा रही थी. अपनी ग़ज़लों को यूँ ही मैं लिखकर रद्दी में फेंक दिया करता था. महक सचमुच बहुत प्यार करती है मुझसे… तभी तो उसने मेरी खूबसूरत भावनाओं को अपने बिस्तर के बगल में खूबसूरत फ्रेमिंग करा के सजा रखा है…

“तो वह खास इंटीरियर आइटम मिला ?”

मैंने सर हिलाकर ‘हाँ’ कहा.

मेरा हाँथ पकड़कर बालकनी में ले गयी. सुन्दर-सुन्दर, तरह-तरह के फूलों वाले गमले रखे थे. गमलों के बीच एक झूला टंगा था. दोनों झूले पर बैठ गए.

“अपनी शायरी की फ्रेमिंग देखकर कन्फ्यूज़्ड हो ?”

“थोड़ा थोड़ा”

“जानते हो रवि, मुझे न एक खूबसूरत लड़की होने का सचमुच बहुत फक्र है, खूबसूरत लड़की की खूबसूरती पर तुम्हारी लिखी शायरी को पढ़ा तो लगा जैसे वे सभी खूबसूरत शब्दों को मुझ जैसी खूबसूरत लड़की के लिए ही लिखा गया हो… मेरी खूबसूरती की तारीफ़ में लिखी गयी शायरी पढ़ना मुझे बेहद पसंद है. एक शायर जब किसी खूबसूरत लड़की की खूबसूरती पर शायरी लिखता है तो उस खूबसूरत लड़की की खूबसूरती और भी हसीन हो जाती है. वैसे शायरी की किताबों से मेरी अल्मिरा भरी पड़ी है, लेकिन उन में वो वाली फीलिंग्स नहीं आती, क्योंकि कम्बख्त प्रिंटेड है जो बाज़ारों में बिकती हैं… लेकिन तुम्हारी कलम से लिखी शायरी को देखा तो सच कहती हूँ, मुझे लगा जैसे उन्हें मेरी तारीफ़ में ही लिखा गया है…”

मेरा हाथ पकड़कर फिर से अपने बेडरूम में ले गयी. मुझे फ्रेमिंग दिखाती हुई पूछी “फ्रेमिंग पसंद आयी तुम्हे ?”

मैं फिर से उस खूबसूरत फ्रेमिंग को देखने लगा. शायरी के फ्रेम से नज़रें हटी और उसके बगल में रखी फोटो पर नज़रें रुक गयी, फोटो देखते ही मानो एक बिजली का झटका लगा. महक के गले में अपनी बाहों का हार डाले एक आदमी मुस्कुरा रहा था… डरता हुआ महक की ओर देखा तो स्माइल करती हुई बोली “ये बब्बू है” बब्बू शब्द से लगा कि उसका भाई होगा. मन ही मन भगवान को याद करने लगा की हे ईश्वर यह बब्बू इसका भाई ही हो…

“दुबई में रहता है…” फोटो को उठाकर चूमती हुई बोली “रवि इससे मिलोगे न, तो बहुत ख़ुशी होगी. बिलकुल तुम जैसा ही है. एकदम भोला-भाला, एक दम सीधा-सादा. इसकी सादगी पर ही मैं मर मिटी… मुझे बहुत प्यार करता है… भगवान करे हरेक खूबसूरत लड़की को ऐसे ही प्यार करने वाला पति मिले… इसी वर्ष मार्च में हमारी सगाई हुई है.”

ऐसा लगा किसी ने कानों में गर्म सलाखें घुसेड़ दी हो… मंज़िल के करीब ही दिल का कारवां लूट गया मेरा…  मैं तो खामोश था… ज़मीं और आसमाँ भी चुप-चाप थे… मेरा रोता-बिलखता दिल ईश्वर से पूछने लगा था ‘हे ईश्वर तेरा क्या बिगाड़ा था… ? क्यों किया ऐसा जानलेवा मज़ाक तूने… ? क्या प्यार करने की सज़ा इतनी दर्दनाक होती है…?’

कबर्ड से अपनी सगाई का एल्बम निकालकर मुझे एक-एक फोटो दिखाती हुई, सभी का परिचय करवाने में व्यस्त थी… मेरी भावहीन नज़रें उस ख़ूबसूरत लड़की पर टंगी थी… भले ही वह किसी की होने वाली दुल्हन हो… मेरे लिए तो सिर्फ एक खूबसूरत लड़की थी… कल भी एक खूबसूरत लड़की थी… आज भी एक खूबसूरत लड़की है… एक ऐसी खूबसूरत लड़की जो सिर्फ सूरत से ही खूबसूरत नहीं बल्कि रूह से भी खूबसूरत है… बहुत खूबसूरत… शायद दुनिया में सबसे खूबसूरत… मुझे खुद पर गुमान होने लगा था. क्योंकि दुनिया की सबसे खूबसूरत लड़की की खूबसूरती पर शायरी लिखने वालों में से, मैं भी एक खुशनसीब शायर था और वह खूबसूरत लड़की मेरे साथ बैठी थी…

 

Read more love stories.

Advertisements

Leave a Reply