पुरुषों को इन 10 बातों में हस्तक्षेप बिलकुल भी पसंद नहीं

पुरुषों को इन 10 बातों में हस्तक्षेप बिलकुल भी पसंद नहीं

पति की हर बात पर रोक-टोक करने से पहले पुरुषों के बारे में इन बातों को जान लें. ध्यान रखें कि पुरुषों को कुछ बातों में हस्तक्षेप बिलकुल पसंद नहीं होती. वैसे पुरुष और महिला में फर्क कुछ भी नहीं होता, लेकिन आदतें और मानसिक्तायें भी बड़ी चीज़ होती हैं. पुरुष प्रधान समाज में जन्मा और पला-बढ़ा व्यक्ति के पहले शिक्षक उसके घरवाले और उसका समाज ही होते हैं.

पुरुष चाहे जितना पढ़ा-लिखा हो, बचपन में मिली शिक्षा को नहीं भुला पाता है. पुरुषों में पुरुषत्व का अहंकार रहता ही है चाहे वह कितना ही आधुनिक क्यों न हो. अगर आप चाहती हैं कि आपके दाम्पत्य जीवन में शांति बनी रहे तो पुरुषों की कुछ ख़ास चीज़ों में हस्तक्षेप न करें.

Read : पति पत्नी के झगड़े दूर करने के लिए, Pati Patni ka Pavitra Rishta

संदेह करना

purushon-par-sandeh-karna

हर बात पर संदेह करना पुरुषों को ही क्या महिलाओं को भी पसंद नहीं होता. इतनी देर फ़ोन पे किस से बात कर रहे थे ? जब कॉल करती हूँ आपका मोबाइल हर वक्त बिज़ी क्यों रहता है ? इंटरनेट पर आधी रात को कौन सा काम होता है ? फ़ोन पे किसी लड़की के हसने की आवाज़ आ रही थी, कौन थी वो ? इस तरह के फ़िज़ूल का शक पुरुषों के साथ-साथ महिलाओं को भी पसंद नहीं आता है. इसलिए घर में शांति चाहिए तो घर के पुरुषों का मूड ऐसी फ़िज़ूल के सवालों से खराब ना करें. यकीन मानिये किसी पर अविश्वास करने से दूरियाँ बढ़ती हैं.

Read : पति पत्नी के रिश्ते को मजबूत बनाने के लिए इन आदतों को त्याग दें

आदतें 

व्यक्ति चाहे जितना शिक्षित या सफल हो, उसमे कुछ न कुछ आदतें ज़रूर होती हैं. किसी को अपने ईमेल का पासवर्ड भूलने की आदत होती है तो किसी को संदेह करने की आदत होती है. कुछ लोगों को बेवजह बात-बात में गुस्सा करने, चिड़चिड़ाने की आदत होती है. किसी को रात भर जागने और सुबह देर तक सोने की आदत होती है.

purushon ki habits

ऐसी ही कई तरह की आदतों से हर कोई प्रभावित होता है, लेकिन शायद ही कोई व्यक्ति हो जो अपनी इन आदतों पर प्रवचन सुनना पसंद करता हो. आदतों के मामले में पुरुषों के खासकर अड़ियल स्वभाव ही सामने आते हैं. ये बात और है कि अपनी इन बिगड़ी हुई आदतों से वह खुद ही परेशान रहता है. अपनी आदतों की वजह से होने वाले नुक्सान की पूरी जानकारी होती है उसे, फिर भी इन्हें न सुधार पाना उनकी मज़बूरी होती है. ऐसे में अगर कोई उसकी आदतों को बदलना चाहे तो उसे वे अपने ego पर ले लेते हैं.

किसी से तुलना करना

purushon-ka-tulna-karna

महिलायें कृपया ध्यान दें, अगर आप चाहती हैं कि पति देव का अच्छा-खासा मूड एक ही पल में बिगड़ जाए तो आपको कुछ और करने की ज़रूरत नहीं है आप सिर्फ अपने मायके वालों से उनकी तुलना करना शुरू कर दें फिर देखिये कमाल. शायद ही कुछ लोग होंगे जिन्हें इन बातों से कोई फर्क नहीं पड़ता, लेकिन अधिकतर पुरुषों का यही हाल है. इसलिए अगर चाहती हैं कि घर में शांति बनी रहे तो भूल कर भी पुरुषों की तुलना अपने मायके वालों से न करें. सबसे ज़रूरी बात, पुरुषों को आमदनी के मामले में किसी से तुलना किए जाना पसंद नहीं होता. इस बात पर विशेष ध्यान रखें कि कभी भी दूसरे पुरुषों की सफलताओं की अपने पति की उपलब्धियों से तुलना न करें.

आर्थिक मामले

आर्थिक मामलों में पुरुषों को किसी का हस्तक्षेप करना पसंद नहीं होता है. पुरुष प्रधान मानसिकताओं की वजह से उन्हें यह भी पसंद नहीं होता कि कोई उनसे खर्चों का हिसाब मांगे. खर्च करने का निर्णय वे अपनी आमदनी के अनुसार लेना पसंद करते हैं. पैसे को कहाँ इन्वेस्ट करना है, कहा नहीं इसका निर्णय उन्हें खुद ही लेना पसंद होता है.

घरवालों की बुराई

purusho-se-complain-karna

इस विषय पर बुराई महिला या पुरुष दोनों को ही पसंद नहीं होती. सिर्फ पुरुषों को ही नहीं बल्कि महिलाओं से भी उनके घर वालो के विषय में नकारात्मक बातें की जाएँ तो उन्हें पसंद नहीं आएगा. जिस घर में आप का जन्म हुआ, पले-बढे उस घर की शिकायत किसी को भी अच्छी नहीं लगेगी. खासकर महिलाओं का ऐसा करना उन्हें नेगेटिव ज़ोन में खड़ा करता है. हर व्यक्ति की यही चाहत होती है कि उसकी पत्नी, घरवालों से अच्छा सम्बन्ध रखे. पुरुषों को ही नहीं बल्कि महिलाओं को भी उनके घर वाले अच्छे लगते हैं. इस वजह से उनकी कमियां भी उन्हें अच्छी लगती हैं. ऐसे में बात-बात पर कोई उनपे ऊँगली उठाए यह किसी को पसंद नहीं आएगा.

पूछताछ करना

पुरुषों को बेवजह की पूछताछ बिलकुल पसंद नहीं होती. ऑफिस से घर आने में देर हो गयी तो पत्नी का यह पूछना कि कहाँ रह गए थे ? आज आने में इतनी देर क्यों हो गयी ? ऑफिस में ऐसा कौन सा काम आ गया कि उसे आज ही निपटाना ज़रूरी था वगैरह वगैरह. पति अगर किसी काम से कहीं गए हैं, और बार-बार उनसे पूछना कि वे कहाँ हैं ? कब तक लौटेंगे ? कितनी देर और लगेगी इत्यादि, ये ऐसे सवाल  होते हैं जो पुरुषों को नाराज़ करने के लिए काफी हैं.

ड्राइविंग

purursho-ki-drving-par-sandeh-karna

पुरुषों की ड्राइविंग पर कोई कमेंट करने से बचे. उन्हें बिल्कुल पसंद नहीं कि कोई उनकी ड्राइविंग पर सवाल उठाए. वे जैसे भी ड्राइव करते हैं उनके अनुसार एक बेहतर ड्राइव है. पुरुषों की ड्राइविंग पर कोई सवाल उठाए तो उन्हें लगता है जैसे उनके पुरुषार्थ पर सवाल उठा दिया हो.

दोस्ती पर सवाल

purshon-ki-dosti-par-comment-karna

पुरुषों को यह कतई पसंद नहीं कि उनकी दोस्ती पर कोई सवाल उठाए. उन्हें पता है कि उनका कौन सा दोस्त कैसा है इसलिए पत्नी का दोस्तों पर नेगेटिव कमेंट, पुरुषों को बिल्कुल पसंद नहीं. इसलिए आपको अगर ऐसा लगता है कि उनकी संगति किसी बुरे व्यक्ति के साथ है तो यहाँ आपको सम्भलने की ज़रूरत है. संयम रखें क्योंकि यह एक गंभीर मामला है, ऐसे मामलों में जल्दबाज़ी न करें. याद रखें ऐसे मामलों में जल्दबाज़ी हमेशा उलटी पड़ जाती है. महिलाओं की अपेक्षा पुरुषों को अपनी दोस्ती पर अधिक भरोसा होता है.

Read : दोस्ती क्या है ? क्या लड़का और लड़की सिर्फ दोस्त हो सकते हैं ?

काम धंदे पर मश्वरा 

purushon-ko-dakhalandaji-nahi-pasand

हर व्यक्ति अपने काम को लेकर बेहद गंभीर होता है. काम छोटा हो या बड़ा, पर उसके लिए वही उसकी रोज़ी-रोटी है. इस मामले में विशेष रूप से पुरुषों को यह बिल्कुल पसंद नहीं कि कोई इस पर हस्तक्षेप करे. अगर आपको लगता है कि उनके काम में सुधार की ज़रूरत है तो इस विषय पर उचित समय देख कर उनसे विचार-विमर्श करें. किसी को कुछ कहने के दो तरीके होते हैं – कहना और पूछना, दोनों में बहुत फर्क है. एक आदेश है तो दूसरा सवाल. इसलिए विचार-विमर्श की शुरुआत पूछने से करें. पूछने का लहज़ा ऐसा होना चाहिए कि उन्हें लगे कि आपको जानकारी नहीं है और आप इस विषय पर जानने को उत्सुक हैं. उनसे कहें कि उनके मन में बस ऐसे ही जानने की इच्छा हो रही है. उनको एहसास कराएं कि वे जानते हैं और आप नहीं.

Read : Husband Wife Relationship में love chemistry की गुलाल

पुरुषों का वीकेंड

पुरुषों को अपनी वीकेंड बहुत प्यारी होती हैं. लगभग हर पुरुष को बुरा लगता जब कोई इस विशेष दिन का मज़ा बिगाड़े. पुरुषों को यह बिल्कुल पसंद नहीं कि वीकेंड में कोई ख़लल डाले. चाहे कोई भी हो, पुरुषों को बहुत बुरा लगता हैं जब कोई उनके वीकेंड पार्टी में हस्तक्षेप करे.

Abhi aap padh rahe the purushon ( पुरुषों ) ko mahilaayen ki kaun si baaten pasand nahi hai. Now to read Annoying Girlfriend Habits That Guys Hate, click here.

Advertisements

इस विषय पर हमारी कोशिश कैसी लगी आपको ? अगर पसंद आयी तो अपने दोस्तों से भी इसे share करें. आपको लगता है कि इस विषय पर कुछ और जुड़ना चाहिए तो ज़रूर बताएं… इस पोस्ट के पढ़ने वाले सभी लोगों को इस विषय पर आप भी कुछ कहें. हो सकता है आपके Comment से किसी का भला हो जाए… और हाँ हमारे Facebook पेज को Like करना ना भूलें. आप देखना आपके खूबसूरत Love Life के लिए हम Lucky Charm साबित होंगे. Wish U happy life… 🙂