Hastmaithun ke fayde

Hastmaithun ke side effect in hindi : Hastmaithun rokne ke upay

Masturbate side effects : Masturbation in Hindi

 दशकों पहले की बात है जब हस्तमैथुन को एक मानसिक बिमारी माना जाता था. अंग्रेजों के कुशाशन की वजह से उन दिनों शिक्षा का अभाव था. शिक्षा के अभाव के कारण हस्तमैथुन को अनैतिक और हानिकारक माना जाता था. बदलते समय के साथ शिक्षा का स्तर बेहतर होने लगा और वैज्ञानिक और सांस्कृतिक नज़रिये में हस्तमैथुन को लेकर बदलाव आया है. हालाँकि इस बदलाव को आने में दशकों लग गए.

आज की हालत की बात करें तो हमारे समाज में आज भी कुछ लोग अशिक्षित हैं. ऐसे लोगों के लिए हस्तमैथुन एक ऐसा विषय है जिस पर आज भी खुलकर बात करना उचित नहीं समझा जाता है. आज भी कुछ लोग मास्टरबेट जैसे विषय पर शर्म महसूस करते हैं. उचित जानकारी के अभाव में लोग मास्टरबेट को नुकसानदायी ही समझते हैं. कुछ लोग इसी उलझन में होते हैं की मास्टरबेट के सिर्फ नुकसान हैं या कोई फायदा भी है? ऐसे ही तमाम प्रश्न उनके दिमाग में आते रहते हैं।

Read : पोर्न क्या होता है Pornography rules in India

हालाँकि एक रीसर्च के मुताबिक 89 पर्सेंट महिलाएँ और 95 पर्सेंट पुरुष मास्टरबेट करते हैं. इस आँकड़े से यह साबित होता है कि हमारा समाज एक दकियानूसी सोच से बाहर निकल रहा है. जिस मास्टरबेट पर लोग शर्मिंदगी महसूस करते थे उसे एक त्यौहार के रूप में दुनिया भर में इंटरनैशनल मास्टर्बेशन मंथ के रूप में मनाया जाने लगा है.

हस्तमैथुन क्यों किया जाता है ?

हस्तमैथुन पर उलझनों को दूर करने के लिए पहले यह समझना जरूरी है कि हस्तमैथुन करते क्यों हैं ? क्या मास्टरबेट वासना पर काबू पाने का एक साधारण तरीका है? ऐसे सवालों पर विशेषज्ञों का जवाब है कि मास्टरबेट एक स्वस्थ सेक्स जीवन का हिस्सा है. विशेषज्ञों की राय में यह एक सुख की अनुभूति के साथ-साथ पुरुषों और महिलाओं के शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए फ़ायदेमंद भी है. मास्टरबेट जीवन का एक शारीरिक और मानसिक हिस्सा है.

Read : सेक्स एजुकेशन क्यों जरूरी है? किस उम्र में क्या यौन शिक्षा दें

हस्तमैथुन कामवासना को शांत करने का एक साधारण माध्यम है. पुरुष या महिला अपने पार्टनर के अभाव में मास्टरबेट से ही अपनी वासना को तृप्त करते हैं. इसके जरिए आप मानसिक रूप से बहुत ही सहज महसूस करने लगते हैं. सम्भोग करने की इच्छा नहीं होने पर यौन संतुष्टि पाने का मास्टरबेट एक आसान विकल्प है. इससे सेक्सुअल तनाव रिलीज़ होता है .

क्या हस्तमैथुन सामान्य प्रक्रिया है ?

हस्तमैथुन पूरी तरह से एक सामान्य प्रक्रिया है. इससे शारीरिक क्षमता पर किसी भी तरह का बुरा प्रभाव नहीं पड़ता है. मास्टरबेट से शारीरिक कमज़ोरी की बात भी पूरी तरह से अफवाह है. वैज्ञानिक दृष्टिकोण से मास्टरबेट करने में कोई बुराई नहीं है.

हस्तमैथुन के फायदे

Read : गर्भावस्था के लक्षण Pregnancy in Hindi

हस्तमैथुन कब से शुरू करना चाहिए ?

हस्तमैथुन करने की कोई निश्चित सीमा नहीं होती है. शरीर में कामुक इच्छा जागने पर यह प्रक्रिया शुरू हो सकती है. सेक्सुअल डिज़ायर्स को पूरा करने के लिए लोग मास्टरबेट करने लगते हैं. वैसे सेक्स जैसी जरूरतों पर 18 के उम्र के बाद ही ध्यान दिया जाना चाहिए.

Read : सुहागरात के टिप्स, ऐसे यादगार बनाए अपनी Pahli Suhagrat

क्या बहुत ज़्यादा हस्तमैथुन हानिकारक है ?

अति सर्वत्र वर्जते. बहुत ज्यादा भोजन करना, बहुत ज्यादा व्यायाम करना या बहुत ज्यादा कुछ भी हो, वो हमेशा हानिकारक होता है. बहुत ज्यादा हस्तमैथुन करने से लिंग में अधिक घर्षण होता है, इस वजह से इसमें सूजन हो सकती है. मास्टरबेट करने की अगर हमेशा इच्छा करे तो फैंटसी की मदद ली जा सकती है और अपने लिंग को हल्का-हल्का सहलाते हुए ऑर्गज्म का आनंद लिया जा सकता है. जब हर वक्त इसी बात पर ध्यान रहे तो डॉक्टर से संपर्क करना जरूरी हो जाता है.

Read : गर्भपात कैसे होता है? जानें गर्भावस्था और गर्भपात की बातें

 हस्तमैथुन किस उम्र तक करना चाहिए ?

हस्तमैथुन एक प्राकृतिक जरूरत है. इसे करने या नहीं करने की कोई उम्र सीमा नहीं है. जब तक इसकी इच्छा या ज़रूरत हो किया जा सकता है.

Read : शादी करने की सही उम्र क्या है – शादी कब करे

क्या हस्तमैथुन से लड़कियों की झिल्ली फट जाती है ?

जहाँ तक बात झिल्ली के फटने की है तो यह खेल-कूद, नाचने से या व्यायाम करने से भी फट जाती है. झिल्ली लड़कियों की योनि की ऊपरी सतह पर एक पतली सी कवर होती है. मास्टरबेट की प्रक्रिया में योनि में कुछ डालने के वजह से भी झिल्ली फट जाती है.

Read : वर्जिनिटी टेस्ट का सच Virginity test at home

क्या हस्तमैथुन करने से स्पर्म ख़त्म हो जाते हैं ?

यह एक ऐसा सवाल है जो लगभग सभी के मन में होता है. इस सवाल के उचित जवाब के लिए, पहले यह समझना ज़रूरी है कि स्पर्म बनता कैसे है; स्पर्म ठीक उसी प्रकार हमारे शरीर में बनते रहता है जिस प्रकार खून बनता है. एक स्वस्थ भोजन स्वस्थ शरीर के लिए जिस तरह से ज़रूरी है उसी तरह से स्पर्म को बनाने के लिए भी जरूरी है. स्वस्थ भोजन करते रहने से इस तरह की समस्या कभी नहीं आती. 

हस्तमैथुन के फायदे

हस्तमैथुन सेक्स लाइफ को बेहतर बनाने में मदद करता है. मास्टरबेट वासना शांत करने का सबसे अच्छा और हेल्दी तरीका है. हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार यह प्रक्रिया बेहद नेचुरल है. ऐसे में इस प्रक्रिया को सेक्सुअल एक्सप्रेशन के रूप में ही देखा जाना चाहिए. सेक्सुअल क्लाइमेक्स में होने पर ऑर्गैजम से शारीरिक और मानसिक तनाव से मुक्ति मिलती है जिससे बेहतर नींद लेने में मदद मिलती है.

Read : Sexual Desires महिलाओं में भी होती है सेक्स की इच्छा?

एक्सपर्ट्स के अनुसार जो लोग मास्टरबेट को लेकर सहज होते हैं वे अपने शरीर और सेक्शुअलिटी को लेकर भी कम्फ़र्टेबल होते हैं. मास्टरबेट महिला और पुरुष दोनों ही कर सकते हैं लेकिन उनके अंगों में विभिन्नता होने के कारण इसे करने के तरीके  अलग-अलग हैं.

हस्तमैथुन के नुक्सान

महिला की योनि हो या पुरुष का शिश्न, दोनों ही नाज़ुक अंग होते हैं. मास्टरबेट के दौरान उत्तेजना में इसे बहुत अधिकता से रगड़ दिया जाए या इस दौरान चोट लग जाए तो इसमें सूजन आ सकती है. जब किसी को सम्भोग से अधिक मास्टरबेट में आनंद आने लगे तो यह एक विकार है.

हस्तमैथुन के नुक्सान

Read : Virginity की नीलामी करने वाली 10 लड़कियां

सामान्य से अधिक हस्तमैथुन किया जाने पर पुरुष में अपने आप पर नियन्त्रण नहीं रह पाता और उसे शीघ्रपतन की समस्या भी हो सकती है. युवावस्‍था में मास्टरबेट की शुरुआत की सबसे अधिक संभावना रहती है. इस उम्र में बार-बार मास्टरबेट करने की इच्छा होती है. सामान्य से अधिक कुछ भी किया जाए तो इसके परिणाम गंभीर हो सकते हैं.

Read : Gender equality लैंगिक समानता जितनी अधिक उतना ही सेक्स

हस्तमैथुन रोकने के उपाय

हस्तमैथुन रोकने का सिर्फ एक तरीका है, अपनी कामवासना को कण्ट्रोल करें. जब तक कामुकता वाली फीलिंग आती रहेगी, इसे रोकना संभव नहीं है. कामुकता की भावनाओं से बचे रहने के लिए इसकी वजहों को रोकना ज़रूरी है. कामुकता की भावनाएँ अश्लील कहानियाँ या अश्लील किताब पढ़ने से आती है. इस तरह की भावनाओं का मुख्य कारण पोर्न वीडियो भी है.

पोर्न सामग्री हस्तमैथुन के लिए उकसाती है. इस तरह के विडियो को बार – बार देखने से असर यह होता है कि व्यक्ति हस्तमैथुन करने को विवश हो जाता है. अधिक हस्तमैथुन से बचे रहने के लिए अश्लीलता से दूर रहें.

 

More information on masturbation effect.

Advertisements

Leave a Reply